200 रुपए ने किसान को बना दिया लखपति, खुदाई के दौरान जमीन से निकला 60 लाख का हीरा

200 रुपए ने किसान को बना दिया लखपति, खुदाई के दौरान जमीन से निकला 60 लाख का हीरा

200 रुपए की जमीन ने बदल की किसान की किस्मत, एक रात में बना दिया लखपति

मध्य प्रदेश में एक गरीब किसान ने पन्ना जिले में एक जमीन लीज पर ली और इस जमीन ने उसे लखपति बना दिया। पन्ना जिला हीरों के लिए प्रसिद्ध है और इस जिले में सरकार द्वारा जमीन लीज पर दी जाती है। एक किसान ने भी सरकार से 200 रुपए की लीज पर जमीन ली और दिन रात इस जमीन में खुदाई की। किसान की मेहनत रंग लाई और उसे जमीन से 14.98 कैरेट का हीरा मिला गया।

किसान लखन यादव पन्ना जिले का रहने वाला है। लखन यादव ने 200 रुपए की लीज पर जमीन को लिया था। लखन यादव के अनुसार जमीन पर खुदाई करते हुए उन्हें एक चमकती हुई चीज दिखाई दी। उन्हें विश्नास नहीं हुआ की ये हीरा है। लखन यादव ने जब इसकी जांच करवाई। तो उनके होश उड़ गया। क्योंकि इस हीरे का वजन 14.98 कैरेट था।

किसान लखन यादव

खनिज विभाग ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि लखन यादव को जो हीरा मिला है। उसे 60 लाख में नीलाम कर दिया गया है। वहीं लखन यादव ने हीरा मिलने पर कहा कि इस हीरे ने मेरी जिंदगी बदल दी है। वो इस पल कभी भूल नहीं पाएगा।

लखन यादव ने बताया कि जब मैं खुदाई कर रहा था। तो मैने जमीन पर चमकती हुई चीज देखी। जो कंकड़ पत्थर के बीच अलग सी चमक रही थी। मैंने उससे धूल हटाई तो देखा की वो कोई मामूली पत्थर नहीं है बल्कि हीरा है। हीरा देखते ही मेरे दिल की धड़कन तेज हो गई और ऐसा लगा कि ये वक्त रोक जाए। ये सब भगवान की मर्जी के बिना संभव नहीं था।

लखन यादव से जब पूछा गया कि वो हीरे से मिली राशि का क्या करने वाले हैं। तो उन्होंने कहा कि वो इन पैसों को संभालकर रखेंगे और अपने बच्चों की पढ़ाई पर खर्च करेंगे। इन्होंने कहा कि मैने पढ़ाई नहीं की है, इसलिए मैं अपने चारों बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाऊंगा। उसके लिए मैं एक निश्चित जमा राशि का निवेश करूंगा।

लखन को हीरा मिलने की कहानी की काफी चर्चा हो रही है और इनकी एक तस्वीर सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रही है। जिसमें वो काउबॉय वाली टोपी, लाल कमीज और सफेद रंग के गमछा में नडर आ रहे हैं।

निकाल दिया था गांव से

लखन यादव ने बताया कि पन्ना में राष्ट्रीय उद्यान बनाते समय कई सारे लोगों को वहां से निकाला गया था और वो भी उनमें शामिल थे। गांव से निकाले जाने पर उन्हें एक लाख मुआवजा दिया था। इससे उन्होंने एक हेक्टेयर जमीन और मोटरसाइकिल खरीदी थी।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!