7 नंबर की जर्सी पहनने वाले MS Dhoni के सात खास रिकॉर्ड जो उन्हें बनाते हैं सबसे अलग

7 नंबर की जर्सी पहनने वाले MS Dhoni के सात खास रिकॉर्ड जो उन्हें बनाते हैं सबसे अलग

झारखंड की राजधानी रांची से निकलकर पूरी दुनिया में नाम कमाने वाले लड़के को आज पूरी दुनिया सलाम करती है। हम बात कर रहे हैं भारत के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की जो अब कभी टीम इंडिया की जर्सी में खेलता नहीं दिखाई देंगे। साल 2020 में जब पूरा देश स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जश्न मना रहा था। उसी दिन MS Dhoni ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

MS Dhoni की कप्तानी में टीम इंडिया ने कई कीर्तिमान स्थापित किए। उन्होंने भारतीय टीम को t20 फॉर्मेट का पहला विश्व कप दिलाया और साल 2011 का वनडे विश्व कप भी भारत की झोली में डाला। महेंद्र सिंह धोनी के लिए सात नंबर काफी लकी साबित होता है। ऐसी में डालते हैं उनके द्वारा स्थापित किए गए उनके 7 खास रिकॉर्डों पर नजर।

1- नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए लगाएं दो शतक

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपने क्रिकेट कैरियर के शुरुआती चरण में अपर ऑर्डर में बल्लेबाजी करते थे। मगर जैसे ही उन्होंने टीम इंडिया की कमान संभाली तो वह निचले क्रम में बल्लेबाजी करने लगे।

भारत के इस विकेटकीपर बल्लेबाज के नाम पर नंबर 7 पर बैटिंग करते हुए सबसे अधिक वनडे शतक जड़ने का रिकॉर्ड है। धोनी ने नंबर 7 पर बल्लेबाजी करते हुए 2 शतक लगाए हैं। नंबर 7 पर उन्होंने पहला शतक पाकिस्तान के विरुद्ध 2012 में और दूसरा शतक एशिया इलेवन की तरफ से अफ्रीका इलेवन के विरुद्ध जड़ा था।

2- 300 से अधिक लगाए हैं सिक्सर

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनीहेलीकॉप्टर शॉट के लिए पूरी दुनिया में जाने जाते हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने अब तक कुल 359 सिक्सर लगा चुके हैं। जिसमें से उन्होंने 229 छक्के एकदिवसीय क्रिकेट में जड़े हैं। धोनी भारत की तरफ से सबसे अधिक छक्के लगाने वाले खिलाड़ियों की सूची में भी शामिल हैं।

कई बार ऐसा देखा गया जब उन्होंने छक्का मारकर भारतीय टीम को जीत दिलाई हो। इसी क्रम में उन्होंने साल 2011 के वनडे विश्व कप के फाइनल मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ छक्का लगाकर भारतीय टीम को 28 साल बाद विश्व कप जिताया था।

3-अंतरराष्ट्रीय मैचों में सबसे अधिक स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड

भारत के पूर्व कप्तान एवं विकेटकीपर बल्लेबाज सिंह धोनी काफी सूझबूझ के साथ क्रिकेट खेलते थे। उन्होंने विकेट के पीछे भी टीम इंडिया को कई अहम सफलताएं दिलाई हैं। इंटरनेशनल क्रिकेट में धोनी के नाम पर 195 स्टंपिंग करने का रिकॉर्ड दर्ज है। जबकि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 829 शिकार (कैच और स्टंपिंग मिलाकर) किए हैं।

4- विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में एक पारी में सबसे अधिक रन

एक विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में महेंद्र सिंह धोनी ने सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया है। साल 2005 में धोनी ने जयपुर में श्रीलंका के विरुद्ध 183 रनों की धांसू पारी खेली थी। महेंद्र सिंह धोनी का यह सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर भी है। इसके अतिरिक्त उन्होंने टेस्ट मैच में एक डबल सेंचुरी भी ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध लगाई थी।

5- इंटरनेशनल में हासिल की सबसे अधिक जीत

महेंद्र सिंह धोनी  ने कप्तान के रूप में कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। जिनमें बतौर कप्तान सबसे अधिक t20 जीत भी उन्होंने टीम इंडिया को दिलाई हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने 72 टी-20 मुकाबलों में टीम की कमान संभाली है। जिसमें से टीम इंडिया को 41 मुकाबलों में जीत मिली है। वहीं, भारत ने धोनी की कप्तानी में सबसे ज्यादा वनडे मुकाबले भी जीते हैं।

6-विकेटकीपिंग के साथ बॉलिंग भी की

भारत के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी विकेटकीपर होने के बावजूद भी टीम इंडिया के लिए नौ मैचों में गेंदबाजी करते हुए नजर आए हैं। जबकि भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी भी भारत के लिए तीन बार गेंदबाजी कर चुके थे।

7. T20 क्रिकेट में महज 2 अर्धशतक लगा सके हैं धोनी

हेलीकॉप्टर शॉट लगाने में माहिर एम एस धोनी  टी20 क्रिकेट में केवल दो अर्धशतक की जड़ सके हैं। उन्होंने 98 t20 इंटरनेशनल मैच खेलते हुए 1617 रन बनाए हैं मगर इस दौरान उनके बल्ले से सिर्फ दो अर्धशतक ही निकले हैं। T20 क्रिकेट में धीमी बल्लेबाजी करने के कारण कई बार उन्हें आलोचनाओं का भी सामना करना पड़ा है।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!