बिहार में काफी दिनों से रास्ते पर चाय बेच रहा था शख्स, जब सच्चाई सामने आई तो होश उड़ गए सबके…

बिहार में काफी दिनों से रास्ते पर चाय बेच रहा था शख्स, जब सच्चाई सामने आई तो होश उड़ गए सबके…

पटना में एक नेशनल तैराक चाय बेचने को मजबूर है. यहां नेशनल लेवल पर पांच मेडल जीतने वाला तैराक गोपाल प्रसाद यादव 6 रुपए प्रति कप चाय बेच कर अपने परिवार का पालन कर रहा है.

गोपाल यादव 1988 और 1989 में स्विमिंग चैम्पियन रह चुके हैं. इसके बावजूद ना तो केन्द्र और ना ही राज्य सरकार ने उनकी कोई सुध लीस और उन्हें कोई सुविधा या सरकारी नैौकरी दी. सरकारी नौकरी पाने के लिए उन्होंने बहुत प्रयास किया. लेकिन हर जगह से उन्हें निराशा ही मिली. इसके बाद काफी ठोकरें खाने के बाद उन्होंने परिवार चलाने के लिए सरकारी नौकरी मोह त्याग कर चाय बेचनी शुरू कर दी. गोपाल यादव ने अपने चाय के स्टाल का नाम नेशनल तैराक चाय दुकान रखा.

चाय दुकान में स्विमिंग चैम्पियन का मेडल

नेशनल तैराक गोपाल प्रसाद यादव ने अपने चाय की दुकान पर अपने जीते सभी मेडल को भी टांग दिया है. इसे दुकान पर टांगने के सवाल पर वह कहते हैं. यह मेडल सरकार की नाकामी को उजागर करते हैं. और बता रहे हैं कि बिहार में खिलाड़ी का क्या हश्र होता है. उन्होंने कहा कि ये सभी मेडल उन्होंने इसलिए टांग कर रखे हैं कि खेल में अपना कैरियर बनाने वाले यह देख लें कि अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी ये हश्र हो सकता है. देश का नाम रोशन करने के बाद उन्हें इनाम में ये परिस्थिति मिल सकती है.

बेटे का बनाना चाहते हैं इंटरनेशनल एथलीट्स

मजेदार बात ये है कि एक एथलीट्स का क्या हश्र होता है यह जानने और भुगतने के बाद भी गोपाल प्रसाद यादव अपने बेटे को स्वीमिंग प्लेयर बनाना चाहते हैं. उनका सपना है कि बेटा इंटरनेशनल स्विमिंग में मेडल जीतकर देश का नाम रोशन करे.ये अलग बात है कि संसादन की कमी की वजह से वह काफी निराशा भी हैं. इसके बावजूद वह बेटे को प्रोत्साहित करते रहते हैं.

‘लालू नीतीश सब से मिला सिर्फ आश्वासन’

वहीं चाय बेचने पर गोपाल प्रसाद ने कहा कि उन्हें ये काम करते हुए कोई शर्म नहीं आती है. गोपाल प्रसाद ने कहा कि शर्म तो सरकार को करनी चाहिए. लालू की सरकार हो या नीतीश कुमार की, सब जगह गुहार लगा चुका हूं.लेकिव वहां से नौकरी मदद नहीं सिर्फ आश्वासन मिला है.

अब तेजस्वी तेजप्रताप से उम्मीद

गोपाल यादव ने कहा कि जब देश में नरेंद्र मोदी की सरकार बनी थी तो उन्हें एक आशा जगी कि प्रधानमंत्री एक चाय बेचने वाला बना है. अब जरूर उनका भाग्य बदलेगा, इसके बाद कई सालों तक मोदी के फोटो वाली टीशर्ट पहनकर चाय बेचे लेकिन कुछ नहीं हुआ . अब तेजस्वी तेजप्रताप की फोटो वाली टी शर्ट पहनकर चाय बेच रहे हैं. शायद उनकी सरकार आने के बाद हमारे अच्छे दिन आ जाएं

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!