सबके सामने इस महिला के पैर छूने लगे पीएम मोदी, जब वजह सामने आई तो हैरान रह गए सब…

सबके सामने इस महिला के पैर छूने लगे पीएम मोदी, जब वजह सामने आई तो हैरान रह गए सब…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण कर देश को समर्पित किया। उस दिन प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम में आई एक महिला के पैर छूकर उन्हें नमन किया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पीएम मोदी द्वारा एक महिला के पाँव छूते हुए एक तस्वीर वायरल हो रही है। इसके लिए लोग पीएम की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

हालाँकि, कुछ सोशल मीडिया पर कन्फ्यूजन के चक्कर में लोगों ने उक्त महिला को राजस्थान की IAS अधिकारी आरती डोगरा समझ लिया। दावा तो यहाँ तक किया गया कि आरती डोगरा ही काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की शिल्पकार थीं। इस तरह का मैसेज व्हाट्सएप पर भी वायरल हो रहा है।

पोस्ट क्या कहती है?

पोस्ट में लिखा है, “आईएएस अधिकारी आरती डोगरा काशी विश्वनाथ मंदिर के जीर्णोद्धार के मामले में मुख्य वास्तुकार थीं। वो दिव्यांग हैं। मोदीजी उन्हें इस महान कार्य के लिए सलाम कर रहे हैं।” हालाँकि, वायरल पोस्ट में जिन बातों का जिक्र किया गया है, हकीकत उससे कहीं अलग है।

कौन है वो महिला जिसके पैर पीएम ने छुए

दरअसल, जिस महिला को लोग आरती डोगरा समझ रहे हैं वो काशी के ही सिगरा की रहने वाली शिखा रस्तोगी हैं। वो दिव्यांग हैं और पीएम मोदी से मिलने आई थीं। 40 वर्षीय शिखा 10वीं पास हैं। शिखा को घर में रहकर अपनी पढ़ाई करनी पड़ी थी क्योंकि काशी के स्कूलों में वो सुविधाएँ ही नहीं थीं जो उनके लिए एक स्कूल में पढ़ना संभव बना सकती। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की नींव रखी थी तब पहली बार वो शिखा से मिले थे और उन्हें कॉरिडोर के भीतर एक दुकान का वादा किया था। नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार पीएम ने शिखा से किया वादा पूरा कर दिया है। उन्होंने बताया कि शिखा को कॉरिडोर के भीतर एक दुकान आवंटित की गई है।

यूपी टाक को दिए इंटरव्यू में शिखा ने बताया कि 13 दिसंबर को कार्यक्रम में देखते ही पीएम मोदी ने उन्हें तुरंत पहचान लिया। उन्होंने कहा, “जैसा कि पीएम मोदी किसी को अपने पैर छूने नहीं देते जब मैंने उनके पैर छुए, तो सम्मान के तौर पर उन्होंने वापस मेरे पैर छुए।”

कौन हैं आरती डोगरा?

वहीं आरती डोगरा वर्तमान में राजस्थान में कार्यरत एक आईएएस अधिकारी हैं। वह मुख्यमंत्री कार्यालय में राजस्थान के सीएम की विशेष सचिव हैं।

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के मुख्य वास्तुकार कौन हैं?

बिमल पटेल काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के मुख्य वास्तुकार हैं। अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से लेकर दिल्ली की सेंट्रल विस्टा परियोजना तक 58 वर्षीय पटेल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परियोजनाओं के वास्तुकार रहे हैं।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!