Rohit Sharma की बढ़ी चिंता, पूरी वेस्टइंडीज सीरीज के लिए टीम में शामिल नहीं ये घातक खिलाड़ी

Rohit Sharma की बढ़ी चिंता, पूरी वेस्टइंडीज सीरीज के लिए टीम में शामिल नहीं ये घातक खिलाड़ी

फुलटाइम कप्तान बनने के बाद ये रोहित शर्मा की पहली वनडे सीरीज होगी, लेकिन अब इसमें कई रुकावटें सामने आ रहीं हैं. टीम इंडिया के कई स्टार प्लेयर कोरोना पॉजिटिव होने के बाद पूरी सीरीज से बाहर हो गए. वहीं, भारतीय टीम साउथ अफ्रीका के खिलाफ मिली हार को भुलाकर एक नई शुरुआत करना चाहेगी. टीम में कई तूफानी प्लेयर्स शामिल हैं, लेकिन कप्तान रोहित शर्मा को एक स्टार प्लेयर की कमी जरूर खलेगी, जो पूरी वेस्टइंडीज सीरीज से बाहर चल रहा है. ये प्लेयर अपने दम पर मैच बदलने के लिए जाना जाता है.

रोहित को खलेगी इस प्लेयर की कमी

वेस्टइंडीज सीरीज के लिए टीम इंडिया में घातक ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को आराम दिया गया है. न्यूजीलैंड सीरीज के बाद जडेजा चोटिल हो गए, उसके बाद से ही वह साउथ अफ्रीका दौरे और वेस्टइंडीज सीरीज से बाहर हैं. वहीं, इस सीरीज के लिए जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी को भी आराम दिया गया है. ऐसे में टीम इंडिया का गेंदबाजी क्रम कुछ कमजोर नजर आ रहा है. रवींद्र जडेजा ऐसे प्लेयर हैं, जो टीम लिए बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फिल्डिंग में योगदान देते हैं. उनकी फुर्ती मैदान पर देखते ही बनती है और वह गेंद को विकेट पर इस तरीके से फेंकते हैं, जैसे कोई निशानेबाज निशाना लगा रहा हो. ऐसे में टीम इंडिया को इस ऑलराउंडर की कमी खल सकती है.

अनुभवहीन है गेंदबाजी आक्रामण

रवींद्र जडेजा की जगह टीम इंडिया में शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर को जगह मिली है. जबकि इन दोनों ही प्लेयर्स के पास ज्यादा वनडे मैच खेलने का अनुभव नहीं है. शार्दुल ठाकुर ने 17 वनडे और दीपक चाहर ने 6 वनडे मैच ही खेले हैं. वहीं, रवींद्र जडेजा ने घरेलू मैदान पर वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा विकेट चटकाए हैं. उन्होंने 18 वनडे मैचों में 30 विकेट हासिल किए हैं. जडेजा की खतरनाक गेंदबाजी से वेस्टइंडीज के प्लेयर्स खौफ खाते हैं. जडेजा के टीम में ना होने से कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल पर शानदार प्रदर्शन करने की बड़ी जिम्मेदारी है.

तीनों ही फॉर्मेट में हिट हैं जडेजा

रवींद्र जडेजा पिछले कुछ सालों में टीम इंडिया के लिए संकटमोचन के तौर पर उभरे हैं. वह भारत के लिए तीनों ही फॉर्मेट में सबसे बड़े मैच विनर खिलाड़ी हैं. खतरनाक गेंदबाजी के साथ वह डेथ ओवर्स में तूफानी बल्लेबाजी के लिए भी जाने जाते हैं. उन्होंने अपनी धाकड़ बल्लेबाजी के दम पर टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं. वहीं, भारतीय पिचें हमेशा से ही स्पिनरों की मददगार होती हैं, ऐसे में जडेजा ने हमेशा ही यहां अपनी आतिशी गेंदबाजी से कहर बरपाया है. उनके स्पिन के जादू से पूरी दुनिया अच्छी तरह से वाकिफ है.

वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत के वनडे मैच

6 फरवरी: पहला वनडे (अहमदाबाद)
9 फरवरी: दूसरा वनडे (अहमदाबाद)
11 फरवरी: तीसरा वनडे (अहमदाबाद)

वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत के टी20 मैच

16 फरवरी: पहला टी-20 (कोलकाता)
18 फरवरी: दूसरा टी-20 (कोलकाता)
20 फरवरी: तीसरा टी-20 (कोलकाता)

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!