IAS Success Story: एक महिला ने कहा- तुम क्या कलेक्टर हो, यह बात ऐसी चुभी कि प्रियंका शुक्ला डॉक्टर से बनीं आईएएस

IAS Success Story: एक महिला ने कहा- तुम क्या कलेक्टर हो, यह बात ऐसी चुभी कि प्रियंका शुक्ला डॉक्टर से बनीं आईएएस

आज आपको एक ऐसी आईएएस अफसर की कहानी बताने जा रहे हैं, जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. यूपीएससी परीक्षा 2009 में सफलता प्राप्त कर आईएएस बनने वाली प्रियंका शुक्ला पेशे से डॉक्टर थीं. एक बार जब वे लोगों का चेकअप करने के लिए स्लम एरिया में गईं, तो एक महिला ने उन्हें ऐसी बात कह दी जो उन्हें अंदर तक चुभ गई. उसी दिन उन्होंने ठान लिया कि वह आईएएस अफसर बनेंगी. फिर क्या था उन्होंने यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी और दूसरे प्रयास में उनका सपना पूरा हो गया.

पहले एमबीबीएस की डिग्री हासिल की

प्रियंका शुक्ला के परिवार वाले हमेशा चाहते थे कि वह यूपीएससी परीक्षा पास कर आईएएस अफसर बनें, लेकिन प्रियंका डॉक्टर बनना चाहती थीं. इसके लिए उन्होंने एमबीबीएस का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लिया और उन्हें लखनऊ की किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में दाखिला मिल गया. एमबीबीएस की डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने लखनऊ में प्रैक्टिस करना शुरू कर दिया. वे डॉक्टर बनकर काफी खुश थीं.

इस घटना ने बदली जिंदगी

एक बार प्रियंका स्लम एरिया में चेकअप करने के लिए गईं. वहां एक महिला गंदा पानी पी रही थी और अपने बच्चों को भी पिला रही थी. प्रियंका ने उस महिला से गंदा पानी पीने से मना किया. इस पर उस महिला ने कहा कि क्या तुम कहीं की कलेक्टर हो? यह बात सुनकर प्रियंका अंदर तक हिल गईं और उन्होंने आईएएस अफसर बनकर ऐसे लोगों की मदद करने का फैसला किया. पहले प्रयास में प्रियंका को यूपीएससी में असफलता मिली, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और ठान लिया कि वे कलेक्टर ही बनेंगी. आखिरकार साल 2009 में उनका सपना पूरा हो गया.

लोगों की सेवा करने का है जुनून

आईएएस अफसर बनने के बाद प्रियंका शुक्ला ने लोगों की जिंदगी बदलने को अपना लक्ष्य बना लिया. वे अब तक छत्तीसगढ़ के कई जिलों में बतौर कलेक्टर काम कर चुकी हैं और उन्हें राष्ट्रपति से कई सम्मान भी मिल चुके हैं. वे आज हम सबके लिए एक रोल मॉडल बन चुकी हैं. उनका मानना है कि अगर आप यूपीएससी परीक्षा को अपना लक्ष्य बना चुके हैं तो उसे हर हालत में हासिल करने की कोशिश करें. लगातार मेहनत करने पर आप अपने लक्ष्य तक जरूर पहुंच सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!