इस भैंस के प्रेग्नेंट होने पर पूरा राज्य मना रहा है उत्सव, वजह है बेहद खास

इस भैंस के प्रेग्नेंट होने पर पूरा राज्य मना रहा है उत्सव, वजह है बेहद खास

अक्सर जब कोई महिला मां बनने वाली होती है, तो घर में खुशियों का माहौल होता है। घरवाले नन्हें मेहमान का स्वागत करने के लिए बेताब होते हैं, लेकिन यदि हम कहें कि एक भैंस की प्रेगनेंसी को लेकर पूरा राज्य जश्न मना रहा है, तो शायद आपको हमारी बात थोड़ी अटपटी लगेगी। जी हां, छत्तीसगढ़ में एक भैंस के प्रेगनेंट होने की खुशी में पूरे राज्य में जश्न मन रहा है। इतना ही नहीं, यह भैंस कोई आम भैंस नहीं है, बल्कि एक खास किस्म की है, जोकि अब देश में बहुत कम संख्या में ही बची है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

छत्तीसगढ़ की एक वनभैंसा मां बनने वाली है, जिसका नाम खुशी है। खुशी के मां बनने की खबर सुनकर पूरे राज्य में खुशी की लहर दौड़ गई है। इतना ही नहीं, खुशी का इलाज करने के लिए डॉक्टर्स भी समय समय पर आते रहते हैं। निवासी लोग वनभैंसा खुशी का पूरा ध्यान रख रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो खुशी इसी महीने बच्चे को जन्म दे सकती है। वनभैंसा खुशी के प्रेगनेंट होने से लोग काफी ज्यादा प्रसन्न हैं, क्योंकि यह प्रजाति लुप्त होने के कगार पर है, ऐसे में इस बच्चे से यह प्रजाति आगे चल सकेगी।

वनभैंसा खुशी का रखा जा रहा है ध्यान

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो खुशी इसी महीने या अगले महीने के पहले सप्ताह में बच्चे को जन्म दे सकती है, जिसकी वजह से उसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। खबरों की माने तो खुशी के पास हर वक्त कोई न कोई रहता ही है, ताकि उसे कोई कमी न महसूस हो। बता दें कि खुशी का ध्यान रखने के लिए डॉक्टर उसके आस पास रहते हैं। बताया जा रहा है कि जिस दिन खुशी बच्चे को जन्म देगी, उस दिन जलसा मनाया जाएगा।

देखरेख में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता वन विभाग

वनभैंसा की प्रजाति अब लुप्त होने की कगार पर है। छत्तीसगढ़ में अब ये कुछ ही संख्या में बचे हुए हैं। इतना ही नहीं, खुशी की मां आशा अब बुजुर्ग हो चुकी है, तो मां नहीं बन सकती है, ऐसे में अब उसकी बेटी खुशी पहली बार गर्भवती है। इन्ही तमाम चीज़ों को ध्यान में रखते हुए वन विभाग खुशी का पूरा ध्यान रख रहा है, ताकि उसे किसी भी चीज़ की कमी न हो और वह एक स्वस्थ बच्चे को जन्म देकर इस प्रजाति को लुप्त होने से बचा सके।

उदंती अभयारण्य के बाड़े में रखा गया

वनभैंसा खुशी का ध्यान रखने के लिए उसे उदंती अभयारण्य के बाड़े में रखा गया है, जहां विशेषज्ञ उस पर नज़र बनाए हुए। बता दें पशु प्रेमी लोग इस बच्चे की आने की खुशी में जश्न मनाने की तैयारी कर रहे हैं, जिसकी वजह से वन विभाग की एक टीम को भी भेजा जा चुका है। संभावनाएं जताई जा रही है कि खुशी जुलाई के आखिरी या अगस्त तक बच्चे को जन्म दे सकती है।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!