3 महान भारतीय क्रिकेटर जिन्हें उनके आखिरी मैच में काफी शानदार विदाई मिली

3 महान भारतीय क्रिकेटर जिन्हें उनके आखिरी मैच में काफी शानदार विदाई मिली

क्रिकेट इतिहास में अभी तक कई दिग्गज खिलाड़ी हुए हैं। इन खिलाड़ियों ने इस बेहतरीन गेम को आगे बढ़ाने में अपनी अहम भूमिका अदा की। वर्ल्ड क्रिकेट में तो कई बेहतरीन प्लेयर हुए ही हैं लेकिन भारतीय क्रिकेट में भी कई महान और दिग्गज खिलाड़ी हुए हैं।

हम नाम लेते-लेते थक जाएंगे लेकिन इन दिग्गज क्रिकेटरों की लिस्ट खत्म नहीं होगी। फैंस इन प्लेयर्स को काफी पसंद करते हैं और इन्हें देखने के लिए हमेशा उत्साहित रहते हैं।

फैंस इन खिलाड़ियों को हमेशा खेलते हुए देखना चाहते हैं लेकिन एक ना एक दिन इन दिग्गजों को भी संन्यास लेना पड़ता है और जब ये प्लेयर क्रिकेट को अलविदा कहते हैं तो वो पल फैंस और क्रिकेटर्स दोनों के लिए काफी इमोशनल होता है।

आज हम बात करेंगे 3 ऐसे ही भारतीय खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने काफी भावुक तरीके से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा। इन खिलाड़ियों ने अपने करियर में कई कीर्तिमान स्थापित किए लेकिन एक दिन उन्हें भी संन्यास लेना पड़ा। वो पल प्लेयर्स समेत फैंस के लिए भी काफी भावुक रहा।

3 महान भारतीय क्रिकेटर जिन्हें काफी शानदार विदाई मिली

3.सौरव गांगुली

सौरव गांगुली वो कप्तान थे जिन्होंने भारतीय टीम की दशा और दिशा ही बदल दी। मैच फिक्सिंग के जाल में उलझी भारतीय टीम को गांगुली ने निडर होकर खेलना सिखाया और विदेशों में जीत की राह दिखाई। इसके बावजूद इतने बड़े कप्तान की क्रिकेट से विदाई काफी निराशानजनक रही। ग्रेग चैपल के साथ हुए विवाद के बाद लगा कि वो वापसी नहीं कर पाएंगे लेकिन इसके बावजूद उन्होंने कमबैक किया।

6 नवंबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में उन्होंने एम एस धोनी की कप्तानी में अपना आखिरी टेस्ट मुकाबला खेला। उस वक्त गांगुली के सम्मान में धोनी ने उनको आखिर के कुछ ओवरों में कप्तानी करने के लिए कहा और गांगुली ने भी उसका पूरा मान रखा।

सौरव गांगुली ने अपने आखिरी मुकाबले में 85 रन बनाए और भारत ने ऑस्ट्रेलिया से वो मैच 172 रनों से जीता। मैच के बाद पूरी टीम ने अपने फेवरिट कप्तान को कंधों पर बैठा लिया और उस सम्मान के साथ उनको विदाई दी, जो सम्मान गांगुली ने भारतीय टीम को इतने सालों तक दिलाया था।

2.अनिल कुंबले

अनिल कुंबले को भारत का सबसे बड़ा मैच विनर माना जाता है। पाकिस्तान के खिलाफ फिरोजशाह कोटला टेस्ट मैच में एक पारी में 10 विकेट लेकर उन्होंने इतिहास रच दिया था। कुंबले ने भारतीय टीम की तरफ से टेस्ट मैचों में कुल 619 विकेट चटकाए हैं और दुनिया में वो तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।

कुंबले ने अपना आखिरी टेस्ट मुकाबला दिल्ली में 2 नवंबर 2008 को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था। उन्होंने कुछ समय तक भारतीय टीम की कप्तानी भी की। अपने आखिरी टेस्ट मुकाबले में कुंबले को शानदार विदाई दी गई।

1.सचिन तेंदुलकर

15921 टेस्ट रन, 18426 वनडे रन, शतकों का शतक…ये आंकड़े दर्शाते हैं कि सचिन तेंदुलकर को यूं ही नहीं क्रिकेट का भगवान कहा जाता है। 24 साल तक भारत की उम्मीदों का बोझ उठाने वाले सचिन तेंदुलकर ने जब अपना आखिरी मैच खेला तो हर किसी की आंखें नम थीं।

14 नवंबर 2013 को वानखेड़े स्टेडियम में सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर का आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला खेला। मैच के बाद जब वो फेयरवेल स्पीच देने लगे तो सचिन समेत स्टेडियम में मौजूद दर्शकों और टीवी पर देख रहे हर एक क्रिकेट फैंस की आंखों से आंसू निकल रहे थे। हर कोई इस बात से गमजदा था कि अब वे सचिन को कभी उस 22 गज की पट्टी पर बल्ले से करिशमा दिखाते हुए नहीं देख पाएंगे।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara Patel

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Don`t copy text!